अंजुमनउपहारकाव्य संगमगीतगौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहे पुराने अंक संकलनअभिव्यक्ति कुण्डलियाहाइकुहास्य व्यंग्यक्षणिकाएँदिशांतर

gaulamaaohr

 

gaulamaaohr
QaarNa kr
QaanaI ]<arIya
lao kraoM kI AMjaurI maoM¸
ga`IYma kI tpna sao¸
tp kr inaKro¸
[na isaMdUrI puYp¹gaucCaoM kao¸
kr rha samaip-t
p`Ìit¹ranaI kao Aaja.
[sa kamanaa sao ik¸
Apnao Syaama¹Gana koSaaoM maoM¸
sajaa laogaI p`Ìit¹ranaI
[nhoM baD,o Pyaar sao¸
AaOr ek tiD,t¹daimanaI¸
camak ]zogaI¸
sajanaI ko mauK¹dMtmaalaa–saI¸
hao p`sanna
barsaa dogaI¸
Apnaa snaoh¹jala
laala¹laala lahlahato¸
lahkto¸
gadrae gaulamaaohr pr.

—maMjaumaihmaa BaTnaagar

 

इस रचना पर अपने विचार लिखें    दूसरों के विचार पढ़ें 

अंजुमनउपहारकाव्य चर्चाकाव्य संगमकिशोर कोनागौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहेरचनाएँ भेजें
नई हवा पाठकनामा पुराने अंक संकलन हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

© सर्वाधिकार सुरक्षित
अनुभूति व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इसमें प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक सोमवार को परिवर्धित होती है

hit counter