अंजुमनउपहारकाव्य संगमगीतगौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहे पुराने अंक संकलनअभिव्यक्ति कुण्डलियाहाइकुहास्य व्यंग्यक्षणिकाएँदिशांतर

gaulamaaohr ko naIcao

 

iktnaI dfa imalao hOM [sa gaulamaaohr ko naIcao
yaadaoM ko isalaisalao hOM [sa gaulamaaohr ko naIcao

yao hO hmaaro Pyaar ka [klaaOta raja,dar
@yaa @yaa na gaula iKlao hOM [sa gaulamaaohr ko naIcao

p<aaoM kI payajaoba gaulaaoM kI maaohr galao
gahnao ga,ja,ba imalao hOM [sa gaulamaaohr ko naIcao

pUrba sao hma calao qao picCma sao Aae tuma
dao idla yahaM imalao hOM [sa gaulamaaohr ko naIcao

kOsao baunao qao hmanao sapnao baD,o–baDo,
vao svaPna ko iklao hOM [sa gaulamaaohr ko naIcao

pla–pla tumhara $znaa AaOr maora manaanaa
naKro hOM caaocalao hOM [sa gaulamaaohr ko naIcao

Aba BaI AQaUro hOM jaao ike qao kBaI yahIM
vaayadaoM ko kaiÔlao hOM [sa gaulamaaohr ko naIcao

Anacaaho vaakyao BaI yahaM hOM dbao pD,o
iSakvao hOM kuC igalao hOM [sa gaulamaaohr ko naIcao

—Saas~I ina%yagaaopala kTaro

16 jaUna 2006

 

इस रचना पर अपने विचार लिखें    दूसरों के विचार पढ़ें 

अंजुमनउपहारकाव्य चर्चाकाव्य संगमकिशोर कोनागौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहेरचनाएँ भेजें
नई हवा पाठकनामा पुराने अंक संकलन हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

© सर्वाधिकार सुरक्षित
अनुभूति व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इसमें प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक सोमवार को परिवर्धित होती है

hit counter