अंजुमन उपहार । कविकाव्य चर्चा काव्य संगम किशोर कोना गौरव ग्राम
गौरवग्रंथ
दोहे रचनाएँ भेजें नई हवा पाठकनामा पुराने अंक संकलन
हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

 


 saunaIla Samaa-

saunaIla Samaa- ka janma gaujarat ko kcC ijalao maoM huAa qaa. ]nhaonoa ApnaI P`aarimBak iSaxaa saOinak skUla sao p`aPt kI AaOr ifr enjaIinayairMga evama\ [nDsTiryala enjaIinayairMga ³naITI´ kI iDga`I laonao ko baad maonaojamaonT ko AaohdaoM pr kaya-rt rho hOM. 

Aajakla vah maskT Aaomaana maoM rh rho hOM. hasya kivata maoM vaao baohd idlacaspI rKto hOM. ]naka maananaa hO ik hasya– vyaMga Wara bahut sao pocaIda masalao saulaJaayao jaa sakto hOM .

[- maola : sunil7026@yahoo.co.in 

 

AnauBaUit maoM saunaIla Samaa- kI 
rcanaaeM—

hasya–vyaMgya maoM

janmaidna ka taohfa
maorI baat maana laao

 

इस कविता पर अपने विचार लिखें    दूसरों के विचार पढ़ें 

अंजुमन। उपहार। कविकाव्य चर्चा काव्य संगम किशोर कोना गौरव ग्राम गौरवग्रंथ दोहे रचनाएँ भेजें
नई हवा
पाठकनामा पुराने अंक संकलन हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

© सर्वाधिकार सुरक्षित
अनुभूति व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इस में प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक माह की 1–9 –16 तथा 24 तारीख को परिवर्धित होती है।