अंजुमनउपहारकाव्य संगमगीतगौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहे पुराने अंक संकलनअभिव्यक्ति कुण्डलियाहाइकुहास्य व्यंग्यक्षणिकाएँदिशांतर

idvaakr

 

 

SaUla maoM vah cauBana hO kha–           

SaUla maoM vah cauBana hO kha–¬
Baavanaa jaao kBaI do gayaI.

idna samasyaa ilayao Aa gayaał
rat baocaOinayaaoM maoM gayaIł
Aaja AaMgana saBaI Anamanaoł
hrtrf hOM vyaqaaeM nayaI.

QaUp maoM vah tpna hO kha–¬
saaQanaa jaao kBaI do gayaI.

ek calato hue poD, saa¬
[sa rsaa kI sarsata ipyao¬
jaD, vahIM hO jahaM maOM KD,ał
CaMh hO hr duKI ko ilae.

svaga- maoM vah saumana hO kha–¬
maRi%tka jaao kBaI do gayaI.

baaoJa iksa pr yaha– hO nahIM¬
AadmaI ikntu ]sasao baD,a¬
QaUila ko Cava kI gaMUja saał
caaMd pr hMsa rha vah KD,a.

isanQau maoM vah rtna hO khaM¬
vaodnaa jaao kBaI do gayaI.

 

इस रचना पर अपने विचार लिखें    दूसरों के विचार पढ़ें 

अंजुमनउपहारकाव्य चर्चाकाव्य संगमकिशोर कोनागौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहेरचनाएँ भेजें
नई हवा पाठकनामा पुराने अंक संकलन हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

© सर्वाधिकार सुरक्षित
अनुभूति व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इसमें प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक सोमवार को परिवर्धित होती है

hit counter