अंजुमनउपहारकाव्य संगमगीतगौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहे पुराने अंक संकलनअभिव्यक्ति कुण्डलियाहाइकुहास्य व्यंग्यक्षणिकाएँदिशांतर

na[- hvaa ]dIyamaana rcanaakaraoM ko stMBa maoM [sa baar p`stut hO SaMkr isaMh kI kivataeMó

SaMkr isaMh 

 




vyai> AaOr nadI  

p`%yaok vyai> ko AMdr  
ek nadI haotI hO
kBaI kBaI [sa nadI maoM
Aa jaatI hO baaZ,
TUT jaato hOM
BaavanaaAaoM ko tTbaMQa
jala hI jala 
Aqaah jala
kBaI yah nadI
saUKtI calaI jaatI hO
@yaaoM 
K,trnaak hao jaatI hO
jaba kBaI yah
p`dUiYat hao jaatI hO
hao sako tao hma
ApnaI [sa nadI kao
svacC rKoM
bacaoM svainaima-t
baaZ, sao 
saUKo sao
p`dUYaNa sao
saIKoM tOrnaa
[sao par krnaa
bauiw AaOr ivavaok sao
Aa%ma saMyama sao

 

इस रचना पर अपने विचार लिखें    दूसरों के विचार पढ़ें 

अंजुमनउपहारकाव्य चर्चाकाव्य संगमकिशोर कोनागौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहेरचनाएँ भेजें
नई हवा पाठकनामा पुराने अंक संकलन हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

© सर्वाधिकार सुरक्षित
अनुभूति व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इसमें प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक सोमवार को परिवर्धित होती है

hit counter