अंजुमनउपहारकाव्य संगमगीतगौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहे पुराने अंक संकलनअभिव्यक्ति कुण्डलियाहाइकुहास्य व्यंग्यक्षणिकाएँदिशांतर

samaIr laala

janma 1963 evaM iSaxaa Baart ko jabalapur maoM 
iSaxaa : caaT-D eka]MTOnT
Aba 6 vaYaao-M sao knaaDa maoM
kaya-xao~ : knaaDa ko baOMk maoM To@naaolaa^jaI salaahkar evaM To@naalaajaI pr k[- laoK p`kaiSat. ihndI sao lagaava A›r kivata pZ,nao Ė ilaKnao ka SaaOk

[- maola : sameer.lal@gmail.com 

blaa^ga: http://www.udantashtari.blogspot.com/

  AnauBaUit maoM samaIr laala kI rcanaaeMó

Kaoyaa mausaai‘r
saunaa hO Aaja haolaI hO
saaoca rha hUM

 

 

इस रचना पर अपने विचार लिखें    दूसरों के विचार पढ़ें 

अंजुमनउपहारकाव्य चर्चाकाव्य संगमकिशोर कोनागौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहेरचनाएँ भेजें
नई हवा पाठकनामा पुराने अंक संकलन हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

© सर्वाधिकार सुरक्षित
अनुभूति व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इसमें प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक सोमवार को परिवर्धित होती है

hit counter