अंजुमन उपहार । कविकाव्य चर्चा काव्य संगम किशोर कोना गौरव ग्राम
गौरवग्रंथ
दोहे रचनाएँ भेजें नई हवा पाठकनामा पुराने अंक संकलन
हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

 


SaiSaklaa imaEaa

janma: 3A@TUbar 1955 kanapur mao huAa .
iSaSaa: kanapur ivaSvaivaValaya sao 1979 maoM samaaja Saas~ maoM snaa%kao<ar kI ]paiQa.

`idllaI mao 10 saala¸ saMyau@t Arba [maarat mao 11 saala rhnao ko baad Aba daoha,¸ ktr mao  p`vaasaI. ihndI ko  `pit ivaSaoYa lagaava hO. Aba tk  30 sao AiQak kivataeM ila#a caukI hOM.

[- maola : SMISHRA@qtel.com.qa

 

AnauBaUit maoM SaiSaklaa imaEaa kI rcanaaeM—

kivataAaoM maoM
kSamakSa
QartI maata
pavana pirNaya
ivanaya

saMklana maoM
jyaaoitpva-–manaaeMgao idvaalaI

 

 

इस कविता पर अपने विचार लिखें    दूसरों के विचार पढ़ें 

अंजुमन। उपहार। कविकाव्य चर्चा काव्य संगम किशोर कोना गौरव ग्राम गौरवग्रंथ दोहे रचनाएँ भेजें
नई हवा
पाठकनामा पुराने अंक संकलन हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

© सर्वाधिकार सुरक्षित
अनुभूति व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इस में प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक माह की 1–9 –16 तथा 24 तारीख को परिवर्धित होती है।