पत्र व्यवहार का पता

अभिव्यक्ति तुक-कोश

१. ४. २०२१     

अंजुमन उपहार काव्य संगम गीत गौरव ग्राम गौरवग्रंथ दोहे पुराने अंक संकलन अभिव्यक्ति
कुण्डलिया हाइकु अभिव्यक्ति हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर नवगीत की पाठशाला रचनाकारों से

उत्सव वाले दिन

 

 

लगे तैरने सभी स्वप्न में उत्सव वाले दिन
चैत्र के उत्सव वाले दिन
1
चैत्र चेतुओं के जीवन का है पहला उत्सव
यौवन पाते रहे सभी पीकर श्रम का आसव
नहीं दृष्टि पथ में दिखते
मेहनतकश वाले दिन
1
मुड़े पृष्ठ देखे संस्कृति के कहाँ गुड़ी पड़वा
सम्वत्सर के स्वागत में है कहाँ पुड़ी हलवा
विक्रम संवत के विक्रम
अभिनंदन वाले दिन
1
राम भक्त टकटकी लगाकर देख रहे सारे
रामजन्म का उत्सव होगा घर मन्दिर द्वारे
क्या नसीब ना हो पाएँगे
दर्शन वाले दिन
1
किन्तु ध्वंस की छाती पर फिर फूटेंगे अंकुर
रोयेगा खुद ही कोरोना सुन साहस के सुर
निश्चित पुनः देख पाएँगे
उत्सव वाले दिन
1
- गिरि मोहन गुरु
इस माह
चैत्र के उत्सवी मौसम को समर्पित

उत्सवी गीतों में-

bullet

अनामिका सिंह

bullet

अनिल कुमार वर्मा

bullet

अमित खरे

bullet

अशोक गीते

bullet

आकुल

bullet

आभा सक्सेना दूनवी

bullet

उमेश मौर्य

bullet

ओमप्रकाश नौटियाल

bullet

गिरिमोहन गुरु

bullet

ज्योतिर्मयी पंत

bullet

दिनेश यादव

bullet

पुष्पलता शर्मा

bullet

मंजु गुप्ता

bullet

मधु संधु

bullet

रमा प्रवीर वर्मा

bullet

राजा अवस्थी

bullet

शार्दुला नोगजा

bullet

सरस दरबारी

bullet

सुरेन्द्र कुमार शर्मा

bullet

सुरेन्द्रपाल वैद्य

bullet

हरिवल्लभ शर्मा हरि

bullet

त्रिलोक सिंह ठकुरेला

bullet

-

bullet

राम गीतों में-

bullet

कुंतल श्रीवास्तव

bullet

रविशंकर मिश्र रवि

bullet

मधु प्रधान

bullet

देवी गीतों में-

bullet

मनोज जैन मधुर

bullet

रंजना गुप्ता

bullet

अंजुमन उपहार काव्य संगम गीत गौरव ग्राम गौरवग्रंथ दोहे पुराने अंक संकलन हाइकु
अभिव्यक्ति हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर नवगीत की पाठशाला

© सर्वाधिकार सुरक्षित
अनुभूति व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इस में प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है।
Google
प्रकाशन : प्रवीण सक्सेना -- परियोजना निदेशन : अश्विन गांधी
संपादन¸ कलाशिल्प एवं परिवर्धन : पूर्णिमा वर्मन

सहयोग : कल्पना रामानी