अंजुमनउपहार काव्य संगम  गीतगौरव ग्राम गौरवग्रंथ
दोहेसंकलन हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर

सविता असीम

जन्म- २ जनवरी, १९६८ को दिल्ली में।

कार्यक्षेत्रः
हिंदी कवयित्री, लेखिका, संपादिका, साहित्य-संस्कृति-कला समीक्षक, कवि सम्मेलन और मुशायरों के लिए मंच संयोजन व आयोजन, रेडियो, टीवी में वार्ताकार, साक्षात्कार, रिपोर्ताज, पटकथा लेखन।

प्रकाशित कृतियाँ:
सन २००१ में ‘रेशमी धूप’ नाम से कविता संग्रह प्रकाशित तथा जुलाई-सितंबर, २०१० में ‘साहित्य आजकल’ नाम से साहित्यिक और सांस्कृतिक त्रैमासिकी के प्रवेशांक का संपादन और प्रकाशन।

पुरस्कार व सम्मानः
अखिल भारतीय भाषा सम्मेलन द्वारा ‘वसुंधरा विभूति सम्मान’, भारतीय लोक साहित्य परिषद द्वारा ‘राष्ट्रीय गौरव सम्मान’, सन २०१० में उत्कृष्ट संयोजक के रूप में तथा सन २०११ में ‘पहली नज़र’ नाम के टी.वी. चैनल द्वारा वूमन अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित
संप्रति- कला निर्देशक एवं मार्केटिंग प्रमुख, स्काई प्लस मल्टीमीडिया नेहरू प्लेस,नई दिल्ली।

ई-मेल- sahityaaajkal@gmail.com 

 

अनुभूति में सविता असीम की रचनाएँ-

अंजुमन में-
किया रूह को
डर कैसा रुसवाई का
लोग जब अपनापन जताते हैं
हमें ये सोचके रोना पड़ेगा
हैं आँखें खुश्क


 

इस रचना पर अपने विचार लिखें    दूसरों के विचार पढ़ें 

अंजुमनउपहारकाव्य चर्चाकाव्य संगमकिशोर कोनागौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहेरचनाएँ भेजें
नई हवा पाठकनामा पुराने अंक संकलन हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

© सर्वाधिकार सुरक्षित
अनुभूति व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इसमें प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक सोमवार को परिवर्धित होती है

hit counter