अंजुमनउपहारकाव्य संगमगीतगौरव ग्राम गौरवग्रंथ
दोहे पुराने अंकसंकलनहाइकुहास्य व्यंग्यक्षणिकाएँदिशांतर

श्रीकृष्ण शर्मा

जन्म : १७ अक्तूबर १९३३ को आगरा, उ. प्र. में।
शिक्षा : एम .ए ., बी .एड .।

कार्यक्षेत्र- अध्यापन, लेखन व संपादन।
प्रकाशित कृतियां :
कविता संग्रह- 'अक्षरों के सेतु'
गीत संग्रह- 'फागुन के हस्ताक्षर' 'मरीचिका' तथा 'त्रिकाल'।
'ताज की छाया में', 'सप्तपदी–5', 'दोहा–दशक–2', 'समकालीन दोहे', 'हिंदी के सर्वश्रेष्ठ मुक्तक', 'हिंदी के मनमोहक गीत', 'बीसवीं सदी के श्रेष्ठ गीत' आदि समवेत कविता संग्रहों में रचनाएँ संकलित। देश की प्रायः सभी प्रतिष्ठित पत्र–पत्रिकाओं में कविता, गीत, बालगीत, दोहा आदि का प्रकाशन।

तेलुगु और बंगला से हिंदी में अनेक कविताओं का रूपांतर तथा आकाशवाणी के विभिन्न केंद्रों से गीतों का प्रसारण। आदिम जाति कल्याण विभाग, मध्य प्रदेश शासन के जिला छिंदवाड़ा के समस्त हाई स्कूल और हायर सेकेंडरी स्कूलों की संयुक्त वार्षिक पत्रिका 'चेतना' का १९८५ से १९९० तक संपादन और प्रकाशन।

सम्मान : साहित्य एवं हिंदी सेवा के लिए अनेक संस्थाओं द्वारा सम्मानित।

संप्रति : प्राचार्य पद से सेवानिवृत्ति उपरांत साहित्य सृजन में रत।

 

अनुभूति में श्रीकृष्ण शर्मा की रचनाएँ-

गीतों में—
अपनी तपनी
खड़े हैं बौने शिखर पर
झील रात की
साँसों को कब तक भरमाएँ
सूरज का स्वर्ण–लेख

 

 

इस रचना पर अपने विचार लिखें    दूसरों के विचार पढ़ें 

अंजुमनउपहारकाव्य चर्चाकाव्य संगमकिशोर कोनागौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहेरचनाएँ भेजें
नई हवा पाठकनामा पुराने अंक संकलन हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

© सर्वाधिकार सुरक्षित
अनुभूति व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इसमें प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक सोमवार को परिवर्धित होती है

hit counter