अंजुमन उपहार । कविकाव्य चर्चा काव्य संगम किशोर कोना गौरव ग्राम
गौरवग्रंथ
दोहे रचनाएँ भेजें नई हवा पाठकनामा पुराने अंक संकलन
हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

 


AnauBaUit maoM dIpk kpUr kI
rcanaaeM—

AnadoKI AnajaanaI laD,kI
ek Saama hu[- yaaoM QaIro sao
ijaMdgaI
doSa kI Saana hOM hma

  ijaMdgaI

lahU kI ek baMUd saI ek Pyaasa hO ijaMdgaI
AadmaI kI BaUK saI ek Aaga hO ija,MdgaI
trsato hOM laaoga marnao ko ilae¸ jaInao ka naama hO ijaM,dgaI.

AMQakar ko baad ]jaalaa hO ija,MdgaI
pInaa pD,ogaa ja,hr ka ek Pyaalaa hO ijaM,dgaI
jaIto hOM laaoga [sa trh BaI ik¸ AkolaI Saama hO ija,MdgaI.

maohnat kr ko¸ saMGaYa- hO ija,MdgaI
KuSa rh ko¸ KuSaI AaOr hYa- hO ija,MdgaI
CaoD, jaa yaadoM ApnaI ik¸ marnao ko baad BaI hO ijaM,dgaI.

AaMKoM KulaI saI¸ p`kaSa hO ija,MdgaI
AMQao BaI jaIto hOM ik¸ ivaSvaasa hO ija,MdgaI
lahU kI ek baMUd saI ek Pyaasa hO ijaM,dgaI
AadmaI kI BaUK saI ek Aaga hO ija,MdgaI.

24 ma[- 2005

 

इस कविता पर अपने विचार लिखें    दूसरों के विचार पढ़ें 

अंजुमन। उपहार। कविकाव्य चर्चा काव्य संगम किशोर कोना गौरव ग्राम गौरवग्रंथ दोहे रचनाएँ भेजें
नई हवा
पाठकनामा पुराने अंक संकलन हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

© सर्वाधिकार सुरक्षित
अनुभूति व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इस में प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक माह की 1–9 –16 तथा 24 तारीख को परिवर्धित होती है।