अंजुमन उपहार । कविकाव्य चर्चा काव्य संगम किशोर कोना गौरव ग्राम
गौरवग्रंथ
दोहे रचनाएँ भेजें नई हवा पाठकनामा पुराने अंक संकलन
हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

 


AnauBaUit maoM homaMt irCairyaa kI
rcanaaeM—

hasya vyaMgya maoM—
kF,-yaU
caunaavaI maahaOla
idla ka dd-

kivataAaoM maoM—
ippasaa
AakaSa banaoM hma
@yaaoM laaOT Aato hao
mauJasao imalanao Aata hO
marNa
toro dr po

saMklana maoM—
vaYaa- maMgala – barKa ranaI

ha[ku maoM—
gyaarh ha[ku

gyaarh ha[ku

pIr idla kI
khnao bah calao
ina:Sabd AaMsaU

iktnaa sa#,t
baha AaMsaU maoM r>
haya ro va>

baaMTta dd-
pUra pUra A@sar
AQaUra caaMd

kOsaa ivaraoQa
rama rhIma kaOna
ja,ra saa baaoQa

sairta maaMgao
Apnaa ihssaa Aaja
KamaaoSa vyaaoma

rah banaanaa
isaKlaata hO hmaoM
bahta panaI

ek [Saara
ijasa po idla hara
tumhara hI qaa

saba samaatI
ifr BaI BaagaI jaatI
jaIvana naTI

iksakI pUjaa
k$M maOM yao bataAao
khaM hO dUjaa

hao ga[- ivada
jaga sao pr huAa
mahaimalana

@yaa qaa banaayaa
samaJa nahIM Aayaa
maaD-na AaT-

16 isatMbar 2005

 
 

इस कविता पर अपने विचार लिखें    दूसरों के विचार पढ़ें 

अंजुमन। उपहार। कविकाव्य चर्चा काव्य संगम किशोर कोना गौरव ग्राम गौरवग्रंथ दोहे रचनाएँ भेजें
नई हवा
पाठकनामा पुराने अंक संकलन हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

© सर्वाधिकार सुरक्षित
अनुभूति व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इस में प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक माह की 1–9 –16 तथा 24 तारीख को परिवर्धित होती है।