अंजुमनउपहारकाव्य संगमगीतगौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहे पुराने अंक संकलनअभिव्यक्ति कुण्डलियाहाइकुहास्य व्यंग्यक्षणिकाएँदिशांतर

AnauBaUit maoM homaMt irCairyaa kI
rcanaaeMó

hasya vyaMgya maoMó
kF,-yaU
caunaavaI maahaOla
idla ka dd-

kivataAaoM maoMó
ippasaa
AakaSa banaoM hma
@yaaoM laaOT Aato hao
mauJasao imalanao Aata hO
marNa
toro dr po

saMklana maoMó
vaYaa- maMgala Ė barKa ranaI

ha[ku maoMó
gyaarh ha[ku

 

marNa

marNa samaJa kr ijasakao 
maanava tU krta hO ňndna
pMcat%va ka ipMjara qaa
TUT rha Aba baMQana.

ijasao samaJa rha tU maR%yau
vah hO naUtna jaIvana
%yaaga mana kI vyaakulata
kr ]saka AailaMgana.

navajaIvana¬ navap`kaSa iKla rha 
nava imala rha tna mana
huAa Qanya tU pakr
eosaa maQaur spMdna.

maatRBaUima kao kr lao
Apnaa AMitma vaMdna
yaugaaoM yaugaaoM tk krogaa 
jaga tora AiBanandna.

 
 

इस रचना पर अपने विचार लिखें    दूसरों के विचार पढ़ें 

अंजुमनउपहारकाव्य चर्चाकाव्य संगमकिशोर कोनागौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहेरचनाएँ भेजें
नई हवा पाठकनामा पुराने अंक संकलन हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

© सर्वाधिकार सुरक्षित
अनुभूति व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इसमें प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक सोमवार को परिवर्धित होती है

hit counter