अंजुमनउपहारकाव्य संगमगीतगौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहे पुराने अंक संकलनअभिव्यक्ति कुण्डलियाहाइकुहास्य व्यंग्यक्षणिकाएँदिशांतर

AnauBaUit maoM ]pond` Qamaa-iQakarI kI kivataeMó

AaraQya maoro var do
dovastuit
ipta pu~ AaOr maR%yau SaOyyaa
baabaa
BaTkta rahI
maayaa tU

]pond` Qama-aiQakarI ka pircaya


 

 
  maayaa tU —  

toro nae $p maoM ifr maOMnao
tuJamaoM Pyaasa doKI
torI AaKaoM kI BaaYaa maoM
caaht kI ek Aasa doKI ≤
 
tU ifr mauJao BaTka na donaa
maOMnao toro AaozaoM kI saa–sa doKI
 
caaht ka baanaa phnao
klpnaa kI na[- kayaa tU
Pyaar  yaqaaqa- AaOr svaPna
daonaaoM  ko baIca maayaa tU —

 

इस रचना पर अपने विचार लिखें    दूसरों के विचार पढ़ें 

अंजुमनउपहारकाव्य चर्चाकाव्य संगमकिशोर कोनागौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहेरचनाएँ भेजें
नई हवा पाठकनामा पुराने अंक संकलन हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

© सर्वाधिकार सुरक्षित
अनुभूति व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इसमें प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक सोमवार को परिवर्धित होती है

hit counter