अंजुमन उपहार । कविकाव्य चर्चा काव्य संगम किशोर कोना गौरव ग्राम
गौरवग्रंथ
दोहे रचनाएँ भेजें नई हवा पाठकनामा पुराने अंक संकलन
हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

 


na[- hvaa 
]dIyamaana rcanaakaraoM ko stMBa maoM [sa baar p`stut hO , laKna}¸ Baart sao Anauja kumaar kI kivataeM —

Anauja kumaar

janma itiqa : 08 A@TUbar 1977 laKna}

iSaxaa : samaajaSaas~ ivaYaya sao snaatk vat-maana maoM prasnaatk kr rha hMU.

AiBa$ica : SatrMja Kolanaa¸ samaaja kaya- krnaa¸ iktabaoM pZ,naa¸ dSa-naIya sqala GaUmanaa.

kaya-xao~ : icaik%saa evaM jana–svaasqya sao saMbaiQat SaaoQa piryaaojanaaAaoM maoM AnvaoYak ko pd pr kaya-rt. saaqa hI saaih%ya saRjana. samp`it "pyaama–e–maaohbbat" kavya saMga`h pr kaya-rt. ivagat k[- vaYaao-M sao gaMBaIr saaihi%yak maMcaaoM pr kavya paz. laKna} mahao%sava ko Antga-t "yauvaa mahao%sava" maoM rcanaa paz.

 

AnauBaUit maoM Anauja kumaar kI rcanaaeM

AMjaumana maoM—

AMQaoro maoM
maorI najaraoM sao
hr Saama

 

 

 

 

इस कविता पर अपने विचार लिखें    दूसरों के विचार पढ़ें 

अंजुमन। उपहार। कविकाव्य चर्चा काव्य संगम किशोर कोना गौरव ग्राम गौरवग्रंथ दोहे रचनाएँ भेजें
नई हवा
पाठकनामा पुराने अंक संकलन हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

© सर्वाधिकार सुरक्षित
अनुभूति व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इस में प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक माह की 1–9 –16 तथा 24 तारीख को परिवर्धित होती है।