अंजुमनउपहारकाव्य संगमगीतगौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहे पुराने अंक संकलनअभिव्यक्ति कुण्डलियाहाइकुहास्य व्यंग्यक्षणिकाएँदिशांतर

राजेश जोशी

जन्म-
सितंबर १९७७ को उत्तरांचल की मनोहर वादियो में बसे नगर अल्मोड़ा में।
शिक्षा-
उत्तरांचल के औद्यौगिक नगर काशीपुर से १९९६ में इलेक्टानिक इंजीनियरिंग में डिप्लोमा।

कार्यक्षेत्र-
बचपन से ही विभिन्न कलाऔ से प्रेम होने की वजह से १७ वर्ष की आयु से ही साहित्य की ओर रुझान बढ़ गया। सन् १९९६ से सन् २००० तक भारत की मुख्य औद्यौगिक इकाइयों एस.आर.एफ. भिवंडी एन .एफ. एल. गुना एवं इंडियन आयल पानीपत रिफानरी में कार्य किया। पिछले दो वर्षों से इंटेल आयरलैंड के सेमिकन्डक्टर मैनुफेक्चरिंग विभाग में कार्यरत हैं।

विदेश के विभिन्न मंचों पर कवितायें सुनायी हैं। अब तक १०० से अधिक कविताएँ लिखी हैं। कविताओं के विषय देशभक्ति प्यार व हास्य व्यंग हैं। वे स्वयं को नयी हवा का आशावादी कवि मानते हैं।

 

अनुभूति में राजेश जोशी अन्य कविताएँ

हास्य व्यंग्य में-
न्यू जोइनिंग
फार्मूला बटरिंग
शिव जी के यहाँ चोरी
साथी रेगिस्तान का



 

 

 

इस रचना पर अपने विचार लिखें    दूसरों के विचार पढ़ें 

अंजुमनउपहारकाव्य चर्चाकाव्य संगमकिशोर कोनागौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहेरचनाएँ भेजें
नई हवा पाठकनामा पुराने अंक संकलन हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

 सर्वाधिकार सुरक्षित
अनुभूति व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इसमें प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक सोमवार को परिवर्धित होती है

hit counter