अंजुमनउपहारकाव्य संगमगीतगौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहे पुराने अंक संकलनअभिव्यक्ति कुण्डलियाहाइकुहास्य व्यंग्यक्षणिकाएँदिशांतर

AnauBaUit maoM SalaBa EaIvaastva
kI rcanaaeM

na[- kivataeM
AalaisayaaoM ka doSa
KuSaI
pZ,oilaKo naasamaJa

kivataAaoM maoM

dOdIPyamaana
maaoxa
QaUla dao kivataeM
va@t kI baat

saMklana maoM
jyaaoit pva-ek AaOr idvaalaI

 

 

maaoxa

maaTI ka tna
maohnat ka tola
jalato hOM hma ija,ndgaI Bar
pOsao kI laaO sao
du:KaoM ka AnQaora imaTanao kI kaoiSaSa maoM .

ek baar @yaaoM na jalaae^M hma
maaTI ko tna maoM
mana ko tola sao
Saaint kI ek eosaI laaO
ik sauK du:K ka AnQaora
hmaoSaa ko ilae imaT jaae
AaOr rh jaae hmaarI Aa%maa maoM
inaYkama inarakar sauK kI ek tojaisvanaI Aaga
Anant jyaaoit ka jagamagaata AMSa
hmaaro BaItr .

 

इस रचना पर अपने विचार लिखें    दूसरों के विचार पढ़ें 

अंजुमनउपहारकाव्य चर्चाकाव्य संगमकिशोर कोनागौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहेरचनाएँ भेजें
नई हवा पाठकनामा पुराने अंक संकलन हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

 सर्वाधिकार सुरक्षित
अनुभूति व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इसमें प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक सोमवार को परिवर्धित होती है

hit counter