अंजुमन उपहार । कविकाव्य चर्चा काव्य संगम किशोर कोना गौरव ग्राम
गौरवग्रंथ
दोहे रचनाएँ भेजें नई हवा पाठकनामा पुराने अंक संकलन
हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

 


AnauBaUit maoM SauBama kI rcanaaeM

Aist%va
klama
pta nahIM @yaaoM 

SauBama ka pircaya AaOr pta

  k,lama

hr iksaI ko mana maoM hO  
kuC na kuC panao kI #,vaaihSa
kao[- tk,dIr saoŹ AaOr 
iksaI sao tk,dIr kr rhI Aaja,maa[Sa
caahtoM ŌiryaadoM khaŠ haotI hO duinayaaŠ maoM 
AasaanaI sao pUrI
sapnao saakar na hao tao 
ija,ndgaI hO AQaUrI

maOM BaI k,amayaabaI AaOr Saaohrt kI baulaMidyaaŠ 
CUnaa caahta hUŠ
ija,ndgaI Apnao AMdaja, sao 
jaInaa caahta hUŠ
maoro jaanao po kao[- raoe na raoe 
kao[- baat nahIM
yaad kroM yao duinayaaŠ 
kuC eosaa kr jaa}Š

k,lama taoD, kr rK dUŠ    
maOM jaba BaI k,lama ]za}Š
k,lama kI naaok sao    
k,lama ka QanaI bana jaa}Š

 

इस कविता पर अपने विचार लिखें    दूसरों के विचार पढ़ें 

अंजुमन। उपहार। कविकाव्य चर्चा काव्य संगम किशोर कोना गौरव ग्राम गौरवग्रंथ दोहे रचनाएँ भेजें
नई हवा
पाठकनामा पुराने अंक संकलन हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

© सर्वाधिकार सुरक्षित
अनुभूति व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इस में प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक माह की 1–9 –16 तथा 24 तारीख को परिवर्धित होती है।