अंजुमन उपहार । कविकाव्य चर्चा काव्य संगम किशोर कोना गौरव ग्राम
गौरवग्रंथ
दोहे रचनाएँ भेजें नई हवा पाठकनामा पुराने अंक संकलन
हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

 


AnauBaUit maoM svayama d%ta' kI
rcanaaeM—

Anajaana
ABaI tao isaf- dIyaa jalaa hO
caah 
inavaodna
rasto

 

 

 

  ABaI tao isaf- dIyaa jalaa hO

ABaI tao isaf- dIyaa jalaa hO
saarI rat baakI hO
baatI jalaogaI CatI jalaogaI
saara Gar tao jalanaa hO

kla tk tao saaqa qao
pr Aaja Alaga hue hO
prCa[- Aba baakI hO pr
yaadaoM kao BaI jalanaa hO

KtaoM fUlaaoM AaOr tsavaIraoM maoM
tao kuC AMgaar baakI hO
AaMsaU BaI saaOgaat hO AaOr
icata kao BaI tao jalanaa hO

ABaI tao maMija,la AaoJala hO
AaOr qako maoro saaqaI hO
tna qako hO mana qako hO
Aba AaOr nahIM calanaa hO

irStaoM ko naamaaoM maoM kovala
'MmaOM' AaOr 'tuma' ka Gaora hO
ABaI tao isaf- 'svayama\' jalaa hO
pr saBaI kao tao jalanaa hO.
 

इस कविता पर अपने विचार लिखें    दूसरों के विचार पढ़ें 

अंजुमन। उपहार। कविकाव्य चर्चा काव्य संगम किशोर कोना गौरव ग्राम गौरवग्रंथ दोहे रचनाएँ भेजें
नई हवा
पाठकनामा पुराने अंक संकलन हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

© सर्वाधिकार सुरक्षित
अनुभूति व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इस में प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक माह की 1–9 –16 तथा 24 तारीख को परिवर्धित होती है।