अंजुमनउपहार काव्य संगम  गीतगौरव ग्राम गौरवग्रंथ
दोहेसंकलन हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर

अशोक रावत

जन्म- १५ नवंबर, १९५३ गाँव मलिकपुर जिला मथुरा (उत्तर प्रदेश)
शिक्षा- सिविल इंजीनियरिंग में स्नातक

प्रकाशन-
'थोड़ा सा ईमान' (ग़ज़ल संग्रह), हिंदी की लगभग सभी प्रतिष्ठित पत्र-पत्रिकाओं तथा समवेत संकलनों में ग़ज़लें तथा आलेख प्रकाशित।

संपादन-
साहित्य भारती (उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान) के 'नागरी ग़जल' विशेषांक का संपादन।

संप्रति-
डिप्टी जनरल मैनेजर (भारतीय खाद्य निगम)

ईमेल:
ashokrawat2222@gmail.com

  अनुभूति में अशोक रावत की रचनाएँ—

नई रचनाएँ—
किसी का डर नहीं रहा
जिन्हें अच्छा नहीं लगता
बढ़े चलिये
भले ही उम्र भर
सभी तय कर रहे हैं

हमारे हमसफ़र भी

अंजुमन में—
अँधेरे इस क़दर हावी है
इसलिए कि
डर मुझे भी लगा
ज़ुबां पर फूल होते है
तूफ़ानों की हिम्मत
थोड़ी मस्ती थोड़ा ईमान
नहीं होती
फूलों का परिवार
बड़े भाई के घर से
भले ही उम्र भर
मुझको पत्थर अगर
ये तो है कि
विचारों पर सियासी रंग
शिकायत ये कि
संसद में बिल
हमारी चेतना पर

 

इस रचना पर अपने विचार लिखें    दूसरों के विचार पढ़ें 

अंजुमनउपहारकाव्य चर्चाकाव्य संगमकिशोर कोनागौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहेरचनाएँ भेजें
नई हवा पाठकनामा पुराने अंक संकलन हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

© सर्वाधिकार सुरक्षित
अनुभूति व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इसमें प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक सोमवार को परिवर्धित होती है

hit counter