अंजुमनउपहारकाव्य संगमगीतगौरव ग्राम गौरवग्रंथ
दोहे पुराने अंकसंकलनहाइकुहास्य व्यंग्यक्षणिकाएँदिशांतर

सुनील साहिल

जन्म- १९७८ में हरियाणा, भारत में।

शिक्षा- बी ए, बी जे, फैशन डिज़ायनिंग और मास कम्युनिकेशन में स्नातकोत्तर

कार्यक्षेत्र- देश विदेश के कवि सम्मेलनों और मंचों पर हास्य कवि के रूप में जाने जाने वाले सुनील साहिल टी वी और नेटवर्क चैनलों में प्रशिक्षु संवाददाता के रूप में भी काम कर चुके हैं। निरंतर पत्र-पत्रिकाओं में छपते रहे हैं और उनके दो कविता संग्रह प्रकाशित हो चुके हैं।

संप्रति- कवि सम्मेलनों में निरंतर प्रतिभागी और ओशो मेडिटेशन रिज़ौर्ट, पुणे में प्रेस संपर्क का कार्य।
ई मेल-
sunilsahil@hotmail.com

 

अनुभूति में सुनील साहिल की रचनाएँ

छंदमुक्त में-
उठो भी अब
काश
छोटी छोटी बूँदें
जब तुम आते हो
तुमसे मिलने के बाद
दरियागंज के आसपास

हास्य व्यंग्य में-
जोंक
गुरू की महिमा


 

 

इस रचना पर अपने विचार लिखें    दूसरों के विचार पढ़ें 

अंजुमनउपहारकाव्य चर्चाकाव्य संगमकिशोर कोनागौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहेरचनाएँ भेजें
नई हवा पाठकनामा पुराने अंक संकलन हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

© सर्वाधिकार सुरक्षित
अनुभूति व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इसमें प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक सोमवार को परिवर्धित होती है

hit counter