अंजुमनउपहारकाव्य संगमगीतगौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहे पुराने अंक संकलनअभिव्यक्ति कुण्डलियाहाइकुहास्य व्यंग्यक्षणिकाएँदिशांतर

AnauBaUit maoM rMjanaa saaonaI kI rcanaaeM—

nayaI kivataeM—
kma- AaOr saMGaYa-
nava vaYa-
ptJaD,I Saama
barKa bahar
BaagaIrqaI
mamata
savaala

kivataAaoM maoM—
gaunagaunaI QaUp
bacapna
bayaar
Baava
maQauyaaimanaI
Sard ?tu

 

gaunagaunaI QaUp

ihmaiSaKr pr
iKlaI Aaja
gaunagaunaI QaUp hO…
laga rha eosaa
svaNa-prI ka
doSa hO
dstk sauna
vasaMt kI
bafI-lao najaaraoM ka
badlaa sva$p hO
gaunagaunaI QaUp hO…

ixaitja sao Aakr
riSmayaaM
imaTa rhI
Avasaad hO
AMQaoro ka
pda- hTakr
ikrNaao ko rqa
pr mauskatI
gaunagaunaI QaUp hO…

fUlaao ko
$K,saar pr
ittilayaaoM kao
KIMca laayaI
$p ]va-SaI saa
maQaur AnauxaNa
?caaAaoM kI gaMgaao~I
gaunagaunaI QaUp hO…

 

इस रचना पर अपने विचार लिखें    दूसरों के विचार पढ़ें 

अंजुमनउपहारकाव्य चर्चाकाव्य संगमकिशोर कोनागौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहेरचनाएँ भेजें
नई हवा पाठकनामा पुराने अंक संकलन हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

© सर्वाधिकार सुरक्षित
अनुभूति व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इसमें प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक सोमवार को परिवर्धित होती है

hit counter