अंजुमनउपहारकाव्य संगमगीतगौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहे पुराने अंक संकलनअभिव्यक्ति कुण्डलियाहाइकुहास्य व्यंग्यक्षणिकाएँदिशांतर

AnauBaUit maoM pIyaUYa pacak kI rcanaaeM

na[- kivataeMó
karnaamaoM
icaknao GaD,o
p`Snavaacak ica*na
basa cala rhI hO
baImaarI
rajanaIit

hasya vyaMgya maoMó
AaOrtoM kuC pirBaaYaaeM
caar fulaJaiD,yaaM
tIna hMisakaeM
p`vaRi%t
p`oma vyaqaa
ÕMT poja pr
mahana Baart
ravaNa ko raja maoM
vaayadaoM kI CurI
saMyau@t pirvaar
saMsad
saa[ja,

 

baImaarI

rajanaIit
baImaarI hOł
ijasamaoM caalaIsa iklaao ka
vaIrPpnał
doSa pr BaarI hOł
kaOna Saor ko
maMuh maoM haqa Dalao
batae ek dUsaro kI baarI hOł
naotaAaoM kao @yaa
laonaa donaał
]nhoM doSa nahIM
sa%ta PyaarI hO.

 

इस रचना पर अपने विचार लिखें    दूसरों के विचार पढ़ें 

अंजुमनउपहारकाव्य चर्चाकाव्य संगमकिशोर कोनागौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहेरचनाएँ भेजें
नई हवा पाठकनामा पुराने अंक संकलन हाइकु हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर समस्यापूर्ति

© सर्वाधिकार सुरक्षित
अनुभूति व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इसमें प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक सोमवार को परिवर्धित होती है

hit counter