पत्र व्यवहार का पता

अभिव्यक्ति तुक-कोश

१. १. २०२३  

अंजुमन उपहार काव्य संगम गीत गौरव ग्राम गौरवग्रंथ दोहे पुराने अंक संकलन अभिव्यक्ति
कुण्डलिया हाइकु अभिव्यक्ति हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर नवगीत की पाठशाला रचनाकारों से

पतंगें

 

 

नील गगन में चढ़ती जातीं
पंख तितलियों से फहरातीं
उड़ती हैं उन्मत्त, पतंगें
कितनी हैं जीवंत!

चित्रकार की भरी तूलिका
जैसी फिरतीं नभ मंडल में
रंग- बिरंगी छवि उकेरतीं
दिशा- दिशा, अंचल- अंचल में
होकर ज्यों आसक्त, रंगा है
देखो पूर्ण दिगंत!

उँगली से है डोर बँधी पर
संचालित यह धड़कन से
उठना- गिरना, झुकना- मुड़ना
होता सब साधक- मन से
रोम- रोम अनुरक्त
बरसता
उर में मृदुल बसंत!

मात्र नहीं कागज का टुकड़ा
कर में युग की संस्कृति बाँधे
सिर्फ नहीं यह कच्ची डोरी
संस्कार सदियों की साधे
अपने संग समस्त-
उड़ानें
इसकी रहीं अनंत!

- प्रताप नारायण सिंह

इस माह
नव वर्ष के अवसर पर
पतंग विशेषांक के अंतर्गत

गीतों में-

bullet

आकुल

bullet

आचार्य श्रीधर शील

bullet

उषा गोस्वामी

bullet

उमा प्रसाद लोधी

bullet

ऋता शेखर मधु

bullet

जयप्रकाश श्रीवास्तव

bullet

धर्मेन्द्र कुमार सिंह

bullet

नितिन उपाध्ये

bullet

पद्मा मिश्रा

bullet

पुष्पलता शर्मा

bullet

पूर्णिमा वर्मन

bullet

प्रताप नारायण सिंह

bullet

मधु प्रधान

bullet

मधु शुक्ला

bullet

मधु संधु

bullet

योगेन्द्र प्रताप मौर्य

bullet

रंजना गुप्ता

bullet

शशि पाधा

bullet

शिवजी श्रीवास्तव

bullet

हरिहर झा

दोहों में-

bullet

कुमार गौरव अजीतेन्दु

bullet

ज्योतिर्मयी पंत

bullet

परमजीत कौर रीत

bullet

पारुल तोमर

bullet

मंजु गुप्ता

bullet

रचना वर्मा

bullet

सत्यशील राम त्रिपाठी

bullet

स्मृति गुप्ता

bullet

त्रिलोक सिंह ठकुरेला

अंजुमन में-

bullet

कमलेश कुमार दीवान

bullet

रमा प्रवीर वर्मा

bullet

सुरेन्द्रपाल वैद्य

अंजुमन उपहार काव्य संगम गीत गौरव ग्राम गौरवग्रंथ दोहे पुराने अंक संकलन हाइकु
अभिव्यक्ति हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर नवगीत की पाठशाला

© सर्वाधिकार सुरक्षित
अनुभूति व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इस में प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है।
Google
प्रकाशन : प्रवीण सक्सेना -- परियोजना निदेशन : अश्विन गांधी
संपादन¸ कलाशिल्प एवं परिवर्धन : पूर्णिमा वर्मन
इस अंक की गजल संपादक हैं : रमा प्रवीर वर्मा